आखिरी रात

- अभिषेक बिशनोई एक सुबह वो जल्दी उठेगा। उस सुबह उसके पास एक लक्ष्य होगा। उसका रक्त आंदोलित होगा और मन एकाग्र। वो दौड़ेगा यद्यपि उसके पैरों को इसकी आदत नहीं होगी। वो गिर के छिलेगा भी परन्तु ख़ून नहीं बहेगा । वो उठ खड़ा होगा वहीं और तभी रक्त प्रवाह होना शुरू होगा। तुम …

Advertisements