जीवन या आत्महत्या

by Abhishek Saran मैंने बहुत पहले ही अपनी किसी कहानी में लिखा था, आवश्यक है कि प्रतिस्पर्धा दो लोगों के बीच मानवता की सीमा को जरूरी रूप से सहेज कर रखे. मेरा ये लेख उन लोगों के नाम है जो असफलता के छत पर भटक रहे हैं, तनावग्रस्त हैं और सोच रहे हैं कि जीवन …

Life~Rain

- Gauri Shankar Prasad   Life. Isn’t life like rain? Watching it from the balcony, its mesmerising, enchanting, so indulging, but when facing it on the road, its challenging, demanding, so difficult. Eventually rain stops, so does life.